Message for International Day against Drug Abuse

Message for International Day against Drug Abuse

सभी गुरु जनों को पुनीत वर्मा का प्रणाम । दिल्ली के सीमापुरी में 80% बच्चे ड्रग का शिकार हैं ।
इस दुखद समाचार को जब आज पढ़ा तो मुझसे रहा नही गया और भीगती आंखों से और गुस्से से पंक्तियाँ लिख बैठा ।

शेयर करने लायक लगें तभी करें । धन्यवाद । 😔

नशा मुक्त हो शहर हमारा, विकल्प हमे अब देना है ।
पुश्तों को बचाने का, संकल्प हमे अब लेना है ।
ड्रग से और तंबाकू से, जीवन को बचाना है ।
कान खोल के सुन लो भाई , जहर नही अब खाना है ।

ड्रग और शराब, ने किया खराब ।
बुद्गी हारी जीवन हारा, टूटा जीवन टूटे खवाब ।
दर्दभरे उस अंधकार में, तुमको ना अब जाना है ।
कान खोल के सुन लो भी, जहर नही अब खाना है ।

आज की ये खबर मुझे लुइस की याद दिलाती है जो कि परिवार से अकेला रहने लगा ।
कटने लगा और गलत संगत में फंस गया । उसने अपने आपको निडर निडर दिखाने के लिए गैंग जॉइन कर लिया ।
फिर किस तरह से उस दलदल से वो बाहर निकला और अपनी कक्षा का उत्तम छात्र बन गया ।
ये कहानी प्रेरणा देने वाली है उन सभी बच्चों को जो ड्रग्स की दुनिया में जा रहे हैं ।

For International day against drug abuse (26 June), Share this message

© मिशन ग्रीन दिल्ली डॉट कॉम

हां मैं कूड़ा उठाता हूँ

हां मैं कूड़ा उठाता हूँ

तीन चक्र पे हुआ सवार
काष्ठ तन का मैं अवतार
सुबह सवेरे जुट जाता हूं
हां मैं कूड़ा उठाता हूं

मलीनता से सराबोर
जन का त्यज्य अपनाता हूं
दुर्गंध से मैं नहाता हूं
हां मैं कूड़ा उठाता हूं

मुझ उपेक्षित को नहीं सराहता
राहगीर मुंह फेर निकलता
पात्र बना निष्ठुरता का
हृदय में कसमसाता हूँ
हां मैं कूड़ा उठाता हूं

दिल्ली की बारिश

दिल्ली की बारिश

ये जो फुहार पड़ रही दिल्ली में, जगा रही है उमंग ऐसी ।
नाच रहा हो मोर ऐसेे, बज रहा मृदंग जैसे ।
थाप यन्त्र ये कह रहा, आसमान क्यों बह रहा ।
मचल रहा मन क्यों ऐसे, जीवन जाग रहा जैसे ।

कविता कहती है, मैं आउंगी काम तुम्हारे ।
शहर की हरियाली पर, भेजूंगी पैगाम तुम्हारे ।
बस तुम कलम छोड़ मत देना,
मिशन ग्रीन का रास्ता मोड़ मत देना ।

बारिश के मौसम में किसी ने सुबह सुबह कहा की चाय बनाओ और पकोड़े ले आओ तो ये पंक्तियाँ सूझी ….

मानता हूं आज आसमान नीला हो गया,
लेकिन पकोड़े के चक्कर अगर मैं गीला हो गया ।
क्या करूँगा फिर गर कोल्ड हो गया,
आफिस का schedule गर होल्ड हो गया ।

What are you looking for ?


Your Email

Let us know your need

×
Connect with Us

Your Name (required)

Your Email (required)

Your Message

×
Translate »