Right Usage of Power

पॉवर की दुनिया में काम कर रहा हूँ और ये देखकर बहुत ख़ुशी होती है की उर्जा से जुडी हुई बड़ी संस्थाए ना सिर्फ भारत में बल्कि दुनिया के अन्य मुल्कों में मिशन ग्रीन पर काम कर रही कम्पनीयों पर अरबों रुपयों का निवेश कर रही हैं. और इस तरह से समझदारी दिखाते हुए भारत का उर्जा उद्योग एक सही दिशा की तरफ जा रहा है. और मैंने तीन वर्षों में टेलिकॉम और नेत्वाक्रिंग जगत में भी मिशन ग्रीन का विकास होते हुए देखा. आज हर टेलिकॉम संस्था उर्जा शक्ति की बजत पर ध्यान दे रही है. अपना हर एक टेलिकॉम और नेट्वोर्किंग का device तैयार करते हुए प्रोडक्ट  मेनेजर अपने हर hardware और सॉफ्टवेर को इस तरह डिजाईन करना चाह रहे हैं जिससे ऊर्जा की बजत हो और कम से कम  अपशिष्ट पदार्थ पैदा हो. और वो कोशिश ये कर रहे हैं की ऐसे पदार्थ रीसाइकिल हो सकें. कई ऐसे समूह सामने आए हैं जो waste  मैनेजमेंट और प्रोडक्ट recycling के काम में लगे हुए हैं और वातावरण की सुरक्षा  में एकजुट हो कर  काम कर रहे हैं    . उर्जा का उपयोग सही स्थान पर सही जगह पर हो उसके लिए हमको ऐसे उपकरण की आवशयकता है जो हमे पॉवर जगत में बिजली के इस्तेमाल को स्पस्ट  रूप से दिखा सके . और अगर ऐसा उपकरण हमे ऑनलाइन सेवा के रूप में मिल जाए तो कहना ही क्या ? आज India Electron Exchange  जैसी मानी हुई संस्थाएं इस कार्य में लगी हुई हैं जो उर्जा निवेश जगत को हमारे सामने एक प्रतिबिंब की तरह रख देती है और हम जान जाते हैं की ऊर्जा का सही उपयोग कहाँ होना  चाहिए .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

11 − eleven =

What are you looking for ?


Your Email

Let us know your need

×
Connect with Us

Your Name (required)

Your Email (required)

Your Message

×
Translate »