Life with a SQL Guru

MySQL जो एक database  का सर्वर है जिंदगी को जीने के नए नए तरीके सीखाता है. अगर हम गुरु को एक database  सर्वर की तरह मानें तो पाएंगे की गुरु के पास जिंदगी को आनंदमय और आसान बनाने के लिए एक किताब है जिस किताब में उसने कई तरह की कहानीयआन लिखी हैं. ये कहानी (Stored Procedures ), जिंदगी के हर मोड़ पे हमारी मदद करती है और हम इश्वर के किसी भी अंश (Tables) और उसके विचारों (डाटा) को और अच्छी तरह समझ सकते हैं, उनको अलग अलग नज़रीय (Views) से देख सकते हैं, उनके विचारों को बदल सकते हैं( Manipulation).  किसी भी व्यक्ति या इश्वर के अंश के विचारों  को खोजना और समझना  मेरे लिए मुश्किल होता अगर उस कहानी को एक विभिन्न अंक नहीं दिया गया होता जिसको हम Primary Key कहते हैं. कहानी को खोजने वाला यह नंबर अगर दो बार इंडेक्स में मिल जाए तो यह नंबर कहानी को खोलने की मुख्य चाबी (Primary  Key) नहीं रह जाता. यह साधारण सूची (इंडेक्स) की तरह काम करता करने लगता है.  अगर कोई भी व्यक्ति या इश्वर का अंश(Table) किसी अन्य व्यक्ति के विचारों को समझना चाहता है तो उसको एक दिव्य चाबी (Foreign  Key) की जरूरत पड़ती है जो सामने खड़े हुए व्यक्ति के विभिन्न अंक तालिका को खोल के रख देती है और वो व्यक्ति हमारा दोस्त बन जाता है.

अगर मैं एक दिन में हज़ारों लोगों की सेवा करना चाहता हूँ तो ये कार्य मेरे लिए आसान नहीं होगा. इसको आसान बनाने के लिए और एक दिन में हज़ारों लोगों को सुखी बनाने के लिए मुघे अपने सामाजिक कार्यों की एक पर्ची (Transaction) तैयार करनी होगी जिसमे मैं अपने सेवा कार्यों का वर्णन कर दूँ.  फिर मैं इस पर्ची को इन्टरनेट पे १०० लोगों को दिखा सकता हूँ और वो सो लोग इस पर्ची का इस्तेमाल करके दस दस लोगों की सेवा कर सकते हैं, जिससे एक दिन में हज़ारों लोगों की सेवा संभव हो पाएगी. अगर सामने खड़ा हुआ व्यक्ति मेरी पर्ची का इन्स्तेमाल सही तरीके से कर लेता है तो सेवा पूर्ण (COMMIT) हो जाएगी और अगर पर्ची (Transaction  Lines) पे लिखा काम पूरा नहीं होता तो वो सेवा पूर्ण नहीं मानी जाएगी (ROLLBACK) और उसे दुबारा शुरू से पर्ची में लिखी lines को फोल्लो करना होगा. Mysql गुरु सारा हेर्बल products का प्रोदुक्टिओं, distribution  और संचालन आश्रम(InnoDB) में ही करते हैं, और इस कारण वो जयादा लोगों की सेवा कम समय में कर पाते हैं, क्योंकि उनको कहीं बहार जाकर समय नष्ट करने की जरूरत नहीं पड़ती.  लेकिन उनके पास MyISAM और Falcon जैसे आश्रम भी हैं जिनका  पता सभी भक्तों के पास है.जो भक्त Innodb आश्रम तक नहीं पहुँच पाते हैं वो MyISAM में सेवा करने में अपना भला समझते हैं. Falcon में कभी कोई नहीं जाता, और वो सुना पडा हुआ है. Innodb आश्रम से कोई भी सामान लेना आसान होता है क्योंकि वहां subah के waqt hi ताला लगा रहता है और baaki दिन वो khulaa रहता है. MyISAM में सामान जब तक पूरा नहीं आ जाता, ताला लगा रहता है और भक्तों को फिर किसी और सेण्टर(Slave  Database  Server ) पर जाना पड़ता है.

Facebook Comments

mm
Hello Friends, my name is Puneet Verma and I am a passionate traveler, environment blogger, and nature lover. People call me a visual storyteller and influencer and God has given me an opportunity to initiate a beautiful community of environment enthusiasts at missiongreenindia.org and missiongreendelhi.com.

Reach out to me at 9910162399 for collaboration.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

What are you looking for ?

    ×
    Connect with Us

      ×
      Subscribe

        ×

        Subscribe Mission Green Delhi